जेईई मेन पेपर एनालिसिस / दोनों पारियों में लेंदी रहा मैथ्स का पेपर, 12वीं के सिलेबस से पूछे अधिकतर कठिन सवाल; हर सेक्शन में रहे न्यूमेरिकल क्वेश्चन

एजुकेशन डेस्क. एनटीए की ओर से तीसरे दिन देश के 567 सेंटर पर बीई-बीटेक परीक्षा हुई। देशभर में बने परीक्षा केंद्रों में 9500 कैमरे और जैमर लगाए गए। बुधवार को कम्प्यूटर बेस्ड मोड पर दो पारियों में परीक्षा हुई। सीसेट एप पर मिले स्टूडेंट्स के फीडबैक के अनुसार जेईई मेन्स का पेपर कुछ कठिन रहा।


सुबह की पारी में केमिस्ट्री कठिन जबकि शाम की पारी में आसान रही। जबकि मैथ्स का पेपर दोनों पारियों में ही लेंदी रहा। फिजिक्स का पेपर पहली पारी में कठिन और दूसरी पारी में कुछ सरल था। मैथ्स में स्टूडेंट्स को पेपर का टाइम पर्याप्त नहीं लगा। पेपर एनसीईआरटी सिलेबस आधारित था। 11वीं और 12वीं कक्षा के प्रश्नों का समावेश था। लेकिन, कठिन प्रश्नों की संख्या 12वीं के सिलेबस से ज्यादा थे। जबकि पिछले साल की तुलना में इस बार तकनीकी परेशानियां काफी कम रही।


एनालिसिस: सब्जेक्टवाइस कैसा रहा पेपर


सुबह की पारी में कठिन रही फिजिक्स और केमिस्ट्री



  • एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर बृजेश माहेश्वरी ने बताया, बुधवार को हुए पेपर में केमिस्ट्री का पेपर आसान रहा। वहीं, फिजिक्स और मैथ्स का पेपर लेवल का रहा। फिजिक्स में प्रैक्टिकल फिजिक्स से विभवमापी पर पहली बार प्रश्न पूछा गया। मॉडर्न फिजिक्स, इलेक्ट्रोमेग्नेटिक्स और मैकेनिक्स सभी भागों से प्रश्न पूछे गए। पेपर में 11वीं के सेलेबस से 12 और 12वीं के सेलेबस से 13 प्रश्न पूछे गए।

  • केमिस्ट्री का पेपर साधारण रहा। फिजिकल केमिस्ट्री से सर्वाधिक 11 प्रश्न पूछे इनआर्गेनिक और ऑर्गेनिक से पूछे मैंथ्स के पेपर में 11 वीं का पलड़ा भारी रहा। यहां 11वीं के सिलेबस से 15 प्रश्न पूछे। वहीं, 12 वीं के सिलेबस से मात्र 10 प्रश्न पूछे। प्रश्नों का लैवल सामान्य से अधिक था।


केमिस्ट्री का आसान और मैथ्स का पेपर कठिन रहा



  • कॅरियर पॉइंट के अकेडमिक डायरेक्टर शैलेंद्र माहेश्वरी के मुताबिक, बुधवार को फिजिक्स का पेपर टफ रहा। जबकि मैथ्स सेक्शन थोड़ा कठिन और डिटेल था। केमिस्ट्री पिछले पेपर की तरह आसान रही। अधिक प्रश्न एनसीईआरटी से पूछे गए।

  • इस साल पेपर के प्रत्येक सेक्शन में न्यूमेरिकल वैल्यू प्रश्न भी शामिल थे। फिजिक्स में ऑप्टिक्स और मॉडर्न फिजिक्स से 6 से 7 सवाल, मैकेनिक्स में 5 से 6 सवाल, करंट इलेक्ट्रिसिटी और ईएमआई से 5 से 6 सवाल, इलेक्ट्रोस्टेटिक और मैगनेटिजम से 3 से 5 सवाल और हीट ऐंड थर्मोडायनामिक्स से 3 से 4 सवाल पूछे है।

  • केमिस्ट्री में फिजिकल केमिस्ट्री से 8 से 10 सवाल, ऑर्गेनिक से 6 से 8 और इनआॅर्गेनिक केमिस्ट्री से 10 से 13 सवाल पूछे हैं। इसी तरह मैथमेटिक्स में कैलकुलस से 8 से 10 सवाल पूछे गए।


केमिस्ट्री पिछले पेपर की तरह आसान रही



  • मोशन एजुकेशन के डायरेक्टर नितिन विजय के मुताबिक, केमिस्ट्री में कंसेप्चुअल एवं इन्फॉर्मेटिव प्रश्नों का समावेश रहा। फिजिकल केमिस्ट्री में कैलकुलेशन अधिक करनी पड़ी। केमिस्ट्री के सभी पेपर में बायोमोलिक्यूल, केमिस्ट्री इन एवरीडेलाइफ एवं कॉर्डिनेशन केमिस्ट्री टॉपिक्स से सबसे ज्यादा प्रश्न पूछे हैं। ,

  • सुबह इनवायरमेंटल केमिस्ट्री से प्रश्न पूछे थे, जबकि शाम की पारी में नहीं। केमिस्ट्री में सीधे तौर पर प्रश्न एनसीईआरटी आधारित थे। वहीं, फिजिक्स का पेपर सुबह की पारी में एवरेज और शाम को आसान रहा।

  • यूनिट डाइमेंशन के एक प्रश्न के उत्तर में दिए गए विकल्पों में सही विकल्प नहीं था। ऐसे में कई स्टूडेंट्स काे निकटस्थ विकल्प को सही उत्तर के रुप में चुना तो कईयों ने इस प्रश्न को अटैम्प्ट ही नहीं किया।


Popular posts